Gayee Kaam Se Lyrics – Laila Majnu

Gayee Kaam Se गयी काम से lyrics by Dev Negi, Amit Sharma, Meenal Jain is a Hindi song from movie Laila Majnu composed by Joi Barua while penned by Irshad Kamil. Movie directed by Sajid Ali starring Avinash Tiwary, Tripti Dimri in the lead role having music label Zee Music Company.

Gayee Kaam Se Song Credits

Song Title – Gayee Kaam Se
Movie – Laila Majnu (2018)
Director – Sajid Ali
Starring – Avinash Tiwary, Tripti Dimri
Music – Joi Barua
Singer – Dev Negi, Amit Sharma, Meenal Jain
Lyricist – Irshad Kamil
Music Label – Zee Music Company

Gayee Kaam Se Song Lyrics in English

Upar se khamosh hai lekin
Andar ik muskaan liye
O upar se khamosh hai lekin
Andar ik muskaan liye

Kahan se aayi kahan chali hai
Husn ki bhari dukaan liye

Sheher ke ladke
Sheher ke ladke iske peeche
Toot gaye badaam se

Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se
Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se

Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se
Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se

Geet ishqiya sunti hai yeh
Khwab reshmi bunti hai yeh
Aur khayalon mein shehzada
Roz naya ek chunti hai yeh

Geet ishqiya sunti hai yeh
Khwab reshmi bunti hai yeh
Aur khayalon mein shehzada
Roz naya ek chunti hai yeh

Shehzaade
Shehzaade

Copy ke pichle
Copy ke pichle panne pe
Likhti rehti naam se

Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se
Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se

Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se
Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se

Gayee kaam se
Gayee kaam se…

O aane waala aayega
Mere liye gaayega
O chandani chandani

Phoolon waale baagh mein
Chahaton ki aag seene mein
Khwahishein bhare woh jeene mein

Bole tu hoor hai
Kyun itni door hai
Lag ja gale dheere dheere
Aaj mile dheere dheere
Lag ja gale dheere dheere

Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se
Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se

Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se
Gayee kaam se yeh ladki to
Gayee kaam se

Gayi kaam se

Gayee Kaam Se Song Lyrics in Hindi

ऊपर से खामोश है लेकिन
अन्दर इक मुस्कान लिए
ओ ऊपर से खामोश है लेकिन
अन्दर इक मुस्कान लिए

कहाँ से आई कहाँ चली है
हुस्न की भरी दूकान लिए

शहर के लड़के
शहर के लड़के इसके पीछे
टूट गए बादाम से

गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से
गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से

गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से
गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से

गीत इश्किया सुनती है ये
ख्वाब रेशमी बुनती है ये
और ख्यालों में शेहज़दा
रोज़ नया एक चुनती है ये

शहज़ादे
शहज़ादे

कॉपी के पीछले
कॉपी के पीछले पन्ने पे
लिखती रहती नाम से

गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से
गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से

गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से
गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से

गयी काम से
गयी काम से…

ओ आने वाला आएगा
मेरे लिए गायेगा
ओ चाँदनी चाँदनी

फूलों वाले बाघ में
चाहतों की आग सीने में
ख्वाहिशें भरी वो जीने में

बोले तू हूर है
क्यूँ इतनी दूर है
लग जा गले धीरे धीरे
आज मिलें धीरे धीरे
लग जा गले धीरे धीरे

गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से
गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से

गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से
गयी काम से ये लड़की तो
गयी काम से

गयी काम से

Gayee Kaam Se Video

Found mistake in lyrics? We will rectify it. Please specify the error and email us at [email protected]