Intezaar Lyrics – Paap

Intezaar इंतज़ार lyrics by Anuradha Paudwal is a Hindi song from movie Paap composed by Anu Malik while penned by Sayeed Quadri. Movie directed by Pooja Bhatt starring John Abraham, Udita Goswami, Gulshan Grover in the lead role having music label Saregama India Ltd.

Intezaar Song Credits

Song Title – Intezaar
Movie – Paap (2003)
Director – Pooja Bhatt
Starring – John Abraham, Udita Goswami, Gulshan Grover
Music – Anu Malik
Singer – Anuradha Paudwal
Lyricist – Sayeed Quadri
Music Label – Saregama India Ltd

Intezaar Song Lyrics in English

Intezaar intezaar intezaar intezaar
Intezaar intezaar intezaar intezaar

Meri subaho ko teri shaamon ka
Meri shaamo ko tere vaadon ka
Meri raaton ko tere khwabon ka

Meri neendon ko teri baahon ka
Mere jazbon ko teri chaahon ka
Behki behki si kuch khataon ka
Khoobsurat si kuch gunahon ka

Intezaar intezaar intezaar intezaar

Apne dilbar ka apne humdum ka
Apne jaanam ka intezaar
Surkh phoolon se mehka rasta hai
Dil to mera magar zard patta hai

Paas aankhon ke sabz manjar hai
Dil ka mausam to phir bhi banjar hai
Mehki mehki si kuch hawaon ka
Bheegi bheegi si kuch ghataon ka

Intezaar intezaar intezaar intezaar

Apne baadal ka apni baarish ka
Apne saawan ka intezaar
Apni dhadkan ka apni saanson ka
Apne jeene ka intezaar

Koi badali kabhi iss tarah aayegi
Pyaas sadiyon ki pal mein bujh jaayegi
Tujhko lauta ke meri aagosh mein
Dekhna waqt ki nabz tham jaayegi

Aisa hone ke kuch duaaon ka
Umrr bhar jo mile unn panahon ka

Intezaar intezaar intezaar intezaar

Tere aane ka tujhko paane ka
Phir na jaane ka intezaar
Tere aane ka tujhko paane ka
Phir na jaane ka intezaar

Intezaar intezaar intezaar intezaar

Intezaar Song Lyrics in Hindi

इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार
इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार

मेरी सुबहो को तेरी शामों का
मेरी शामो को तेरे वादों का
मेरी रातों को तेरे ख्वाबों का

मेरी नींदों को तेरी बाहों का
मेरे जज़्बों को तेरी चाहों का
बहकी बहकी सी कुछ खताओं का
ख़ूबसूरत से कुछ गुनाहों का

इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार

अपने दिलबर का अपने हमदम का
अपने जानम का इंतज़ार
सुर्ख फूलों से महका रास्ता है
दिल तो मेरा मगर ज़र्द पत्ता है

पास आँखों के सब्ज़ मंजर है
दिल का मौसम तो फिर भी बंजर है
महकी महकी सी कुछ हवाओं का
भीगी भीगी सी कुछ घटाओं का

इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार

अपने बादल का अपनी बारिश का
अपने सावन का इंतज़ार
अपनी धड़कन का अपनी साँसों का
अपने जीने का इंतज़ार

कोई बदली कभी इस तरह आएगी
प्यास सदियों की पल में बुझ जायेगी
तुझको लौटा के मेरी आगोश में
देखना वक़्त की नब्ज़ थम जाएगी

ऐसा होने के कुछ दुआओं का
उम्र भर जो मिलें उन पनाहों का

इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार

तेरे आने का तुझको पाने का
फिर ना जाने का इंतज़ार
तेरे आने का तुझको पाने का
फिर ना जाने का इंतज़ार

इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार इंतज़ार

Intezaar Video

Found mistake in lyrics? We will rectify it. Please specify the error and email us at [email protected]