Jab Naam-E-Mohabbat Leke Lyrics – Kala Pani (1958)

Jab Naam-E-Mohabbat Leke जब नाम-ए-मोहब्बत लेके song is from the movie Kala Pani (1958) directed by Raj Khosla. The song is sung by Asha Bhosle. The song’s music is composed by S.D. Burman & penned by Majrooh Sultanpuri. The movie cast includes Dev Anand, Madhubala, Nalini Jaywant in the lead role. Music Label Saregama India Ltd.

Jab Naam-E-Mohabbat Leke Song Credits

Song Title – Jab Naam-E-Mohabbat Leke
Movie – Kala Pani (1958)
Director – Raj Khosla
Starring – Dev Anand, Madhubala, Nalini Jaywant
Music – S.D. Burman
Singer – Asha Bhosle
Lyricist – Majrooh Sultanpuri
Music Label – Saregama India Ltd.

Jab Naam-E-Mohabbat Leke Song Lyrics in English

Jab naam-e-mohabbat leke kissi
Nadaan ne daaman phailaya
Pehloo mein ajab sa dard utha
Palkon pe ek aansun thharraya

Dil baithe baithe bhar aaya
Kya kahiye hamein kya yaad aaya
Kya kahiye hamein kya yaad aaya

Aji chhodo yeh tarana hai purana
Ulfat hai deewanon ka fasana
Jee lo jee lo
Yeh hai jeene ka zamana
Pyar kaisa kahan ki wafa

Yaad aayi kisi ki mehki huyi
Saanson ki hawa halki halki
Yaad aayi kisi ki mehki huyi
Saanson ki hawa halki halki

Woh shaam woh rangon ke baadal
Chunri woh meri dhalki dhalki
Ik baat ne kitna tadpaya
Kya kahiye hamein kya yaad aaya
Kya kahiye hamein kya yaad aaya

Aji chhodo yeh tarana hai purana
Ulfat hai deewanon ka fasana
Jee lo jee lo
Yeh hai jeene ka zamana
Pyar kaisa kahan ki wafa

Chhodo chhodo chhodo chhodo
Chhodo chhodo ae jee chhodo chhodo

Aji chhodo yeh tarana hai purana
Ulfat hai deewanon ka fasana
Jee lo jee lo
Yeh hai jeene ka zamana
Pyar kaisa kahan ki wafa

Duniya se na rakh umeed-e-wafa
Jab yuhi kisi ne samjhaya
Duniya se na rakh umeed-e-wafa
Jab yoonhi kisi ne samjaya

Kuch aur badi seene ki jalan
Kuch aur badha gham ka saaya
Reh reh ke hamein rona aaya

Kya kahiye hamein kya yaad aaya
Kya kahiye hamein kya yaad aaya

Jab Naam-E-Mohabbat Leke Song Lyrics in Hindi

जब नाम-ए-मोहब्बत लेके किसी
नादान ने दामन फैलाया
पहलू में अजब सा दर्द उठ
पलकों पे एक आंसूं थर्राया

दिल बैठे बैठे भर आया
क्या कहिये हमें क्या याद आया
क्या कहिये हमें क्या याद आया

अजी छोड़ो ये तराना है पुराना
उल्फत है दीवानों का फ़साना
जी लो जी लो
ये है जीने का ज़माना
प्यार कैसा कहाँ की वफ़ा

याद आयी किसी की महकी हुयी
साँसों की हवा हलकी हलकी
याद आयी किसी की महकी हुयी
साँसों की हवा हलकी हलकी

वोह शाम वोह रंगों के बादल
चुनरी वोह मेरी ढल्की ढल्की
इक बात ने कितना तड़पाया
क्या कहिये हमें क्या याद आया
क्या कहिये हमें क्या याद आया

अजी छोड़ो ये तराना है पुराना
उल्फत है दीवानों का फ़साना
जी लो जी लो
ये है जीने का ज़माना
प्यार कैसा कहाँ की वफ़ा

छोड़ो छोड़ो छोड़ो छोड़ो
छोड़ो छोड़ो ऐ जी छोड़ो छोड़ो

अजी छोड़ो ये तराना है पुराना
उल्फत है दीवानों का फ़साना
जी लो जी लो
ये है जीने का ज़माना
प्यार कैसा कहाँ की वफ़ा

दुनिया से ना रख उम्मीद-ए-वफ़ा
जब यूँही किसी ने समझाया
दुनिया से ना रख उम्मीद-ए-वफ़ा
जब यूँही किसी ने समझाया

कुछ और बढ़ी सीने की जलन
कुछ और बढ़ा ग़म का साया
रह रहके हमें रोना आया

क्या कहिये हमें क्या याद आया
क्या कहिये हमें क्या याद आया

Jab Naam-E-Mohabbat Leke Video

Found mistake in lyrics? We will rectify it. Please specify the error and email us at [email protected]