Home » Lal Botal Saraba Lyrics | Prakash Kahala

Lal Botal Saraba Lyrics | Prakash Kahala


Lal Botal Saraba लाल बोतल शराबा lyrics by Prakash Kahala is a Kumaoni song composed by Moti Shah while penned by Prakash Kahala having music label Garhkumaun Films

Lal Botal Saraba Song Credits

Song Title – Lal Botal Saraba
Music – Moti Shah
Singer – Prakash Kahala
Lyricist – Prakash Kahala
Music Label – Garhkumaun Films

Lal Botal Saraba लाल बोतल शराबा Song Lyrics

$ads={1}
लाल बोतल शराबा 
तू छै बडी खराबा 
लाल बोतल शराबा 
तू छै बडी खराबा 
अब क्या करूं रे
नश में जी चूर है ग्यूं 
अब क्या करूं रे
नश में जी चूर है ग्यूं
लाल बोतल शराबा 
तू छै बडी खराबा 
लाल बोतल शराबा 
तू छै बडी खराबा 
अब क्या करूं रे
नश में जी चूर है ग्यूं 
अब क्या करूं रे
नश में जी चूर है ग्यूं
पैली मेले यक पी
फिर शराबल मकै पी
पैली मेले यक पी
फिर शराबल मकै पी
म्यारु द्वपालू लै मखड़ी 
कच्ची मैजे ठरका दी
म्यारु द्वपालू लै मखड़ी 
कच्ची मैजे ठरका दी
अब क्या करूं रे
कागजी नींबू चूसन रे ग्यूं
अब क्या करूं रे
कागजी नींबू चूसन रे ग्यूं
कैले मकै ह्विस्की पिलायी
कैले पिलायी रम
कैले मकै ह्विस्की पिलायी
कैले पिलायी रम
पीले भुला पीले कयो 
मिटी जालो गम
पीले भुला पीले कयो 
मिटी जालो गम
अब क्या करूं रे
रात भर झुमने रे ग्यूं
अब क्या करूं रे
रात भर झुमने रे ग्यूं
घर वाई ले न पे कौई
मैंले विकी नी मानी
घर वाई ले न पे कौई
मैंले विकी नी मानी
सच लगानी अकले उमर 
भेट दगड नी हुनी
सच लगानी अकले उमर 
भेट दगड नी हुनी
अब क्या करूं रे,
घर वाई मकेड़ी रिसे गे
अब क्या करूं रे
घर वाई मेरी मैत भाजीगे
 
ग्वर बेचा बकार बेचा 
तू शराबै खातीरा
ग्वर बेचा बकार बेचा 
तू शराबै खातीरा
म्यर दगडी छोड़ी बे नेहग
बढ़गी बड़ा सातीरा
म्यर दगडी छोड़ी बे नेहग
बढ़गी बड़ा सातीरा
अब क्या करूं रे
छन डबला ठन ठन गोपाल छू 
अब क्या करूं रे
छन डबला ठन ठन गोपाल छू
अब क्या करूं रे
छन डबला ठन ठन गोपाल छू
छन डबला ठन ठन गोपाल छू
$ads={2}

Lal Botal Saraba Video